Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 77509
Date of publication : 24/6/2015 6:35
Hit : 361

परमाणु बात-चीत नाकाम हुई तो क़यामत नहीं आ जाएगी

विदेश मंत्री मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने कहा है कि यदि परमाणु बात-चीत नाकाम रहती है तो क़यामत नहीं आ जाएगाी।


विलायत पोर्टलः विदेश मंत्री ने कहा है कि यदि परमाणु बात-चीत नाकाम रहती है तो क़यामत नहीं आ जाएगाी। मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने अमरीकी पत्रकार न्यूयार्कर से बात करते हुए कहा कि ईरान व दुनिया की पांच बड़ी ताक़तों पर आधारित गुट पांच धन एक के बीच जारी परमाणु बात-चीत की नाकामी का मतलब, दुनिया की समाप्ति नहीं है मगर एक बड़ा और शायद दोबारा ना आने वाला मौक़ा अमरीका के हाथ से ज़रूर निकल जाएगा। उन्होंने कहा कि ईरानी राष्ट्र अपने इज़्जत और सम्मान की हिफ़ाज़त के लिए हर कुर्बानी देने को तैयार है। विदेश मंत्री ज़रीफ़ ने इससे पहले सोमवार को लक्ज़मबर्ग में तीन यूरोपीय देशों के विदेश मंत्रियों तथा यूरोपीय संघ के विदेशी मामलों की इंचार्ज से मुलाक़ात के बाद कहा था कि बात-चीत के दोनों पक्षों के बीच समग्र समझौते के लिए आवश्यक राजनैतिक इच्छा शक्ति मौजूद है। उन्होंने कहा था कि अगर यह इच्छा शक्ति, तथ्यों और लूसान घोषणापत्र की बुनियाद पर हो तो निर्धारित समय से पहले ही समग्र परमाणु समझौते की संभावना प्रबल है।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हश्दुश शअबी का आरोप , आईएसआईएस को इराकी बलों की गोपनीय जानकारी पहुंचाता था अमेरिका ईरान के पयाम सैटेलाइट ने इस्राईल और अमेरिका को नई चिंता में डाला सीरिया की स्थिरता और सुरक्षा, इराक की सुरक्षा का हिस्सा : बग़दाद आले सऊद की नई करतूत , सऊदी अरब में खुले नाइट कलब और कैसीनो । अमेरिका ने सीरिया से भाग कर ईरान, रूस और बश्शार असद को शक्तिशाली किया । ज़ुबान के इस्तेमाल के फ़ायदे और नुक़सान । सीरिया के विभाजन की साज़िश नाकाम, अमेरिका ने कुर्दों को दिया धोखा । सीरिया में अमेरिका का स्थान लेंगी मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात की सेना । बैतुल मुक़द्दस से उठने वाली अज़ान की आवाज़ पर लगेगी पाबंदी । दमिश्क़ की ओर पलट रहे हैं अरब देश, इस्राईल हारा हुआ जुआरी : ज़ायोनी टीवी शहीद बाक़िर अल निम्र, वह शेर मर्द जिसका नाम सुनकर आज भी लरज़ जाते हैं आले सऊद बश्शार असद की हत्या ज़ायोनी चीफ ऑफ स्टाफ की पहली प्राथमिकता ? यमन के सक़तरी द्वीप पर संयुक्त अरब अमीरात की नज़र क़तर के पूर्व नेता का सवाल, सऊदी अरब में कोई बुद्धिमान है जो सोच विचार कर सके ? अंसारुल्लाह का आरोप , यमन के लिए दूषित भोजन खरीद रहा है डब्ल्यू.एच.पी