Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 78649
Date of publication : 13/7/2015 15:26
Hit : 246

सुप्रीम लीडर का बयान पश्चिमी मीडिया की नज़र में

इस्लामी रिवाल्यूशन के सुप्रीम लीडर की छात्रों से हुई मुलाक़ात और इस अवसर पर सुप्रीम लीडर के महत्वपूर्ण बयान को विश्व मीडिया ने व्यापक रूप से कवरेज दिया है।



विलायत पोर्टलः इस्लामी रिवाल्यूशन के सुप्रीम लीडर की छात्रों से हुई मुलाक़ात और इस अवसर पर सुप्रीम लीडर के महत्वपूर्ण बयान को विश्व मीडिया ने व्यापक रूप से कवरेज दिया है। रोइटर्ज़, एसोशिएटेड प्रेस और फ़्रांस प्रेस ने इस समाचार को कवरेज देते हुए लिखा कि ईरान के सुप्रीम लीडर आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद अली ख़ामेनेई ने अमरीकी लीडरशिप में विश्व साम्राज्यवाद से लगातार संघर्ष पर बल दिया है। एसोशिएटेड प्रेस ने लिखा कि इस्लामी रिवाल्यूशन के सुप्रीम लीडर ने अमरीका के साथ संघर्ष जारी रखने की इच्छा ज़ाहिर की और यह इस बात का निशान है कि परमाणु बातचीत के परिणामों से हटकर अमरीका पर ईरान कभी भरोसा नही करेगा। इस अमरीकी समाचार एजेन्सी ने प्रेस टीवी के हवाले से लिखा है कि इस्लामी रिवाल्यूशन के सुप्रीम लीडर ने ईरान के छात्रों को संबोधित करते हुए अमरीका को साम्राज्यवाद का प्रतीक बताया और कहा कि वे साम्राज्यवादी शक्तियों से संघर्ष के लिए तैयार रहें। फ्रांस प्रेस ने भी लिखा है कि इस्लामी रिवाल्यूशन के सुप्रीम लीडर ने विश्व साम्राज्यवाद से संघर्ष पर बल दिया। रोइटर्ज़ ने लिखा कि अमरीका, विश्व साम्राज्यवाद का साक्षात है। वॉल स्ट्रीट जनरल ने अपनी रिपोर्ट में लिखा कि ईरान के सुप्रीम लीडर ने अमरीका को साम्राज्य का साक्षात बताया और सचेत किया कि यदि कुछ दिनों में विश्व शक्तियों और तेहरान के मध्य सहमति हो जाए तब भी वाशिंग्टन से ईरान का विरोध समाप्त नहीं होगा। फ़ॉक्स न्यूज़ एजेन्सी ने भी लिखा है कि ईरान के वरिष्ठ नेता ने परमाणु बातचीत में प्रगति होने के बावजूद अमरीका के विरुद्ध संघर्ष के जारी रखने की इच्छा ज़ाहिर की है। मालूम रहे कि इस्लामी रिवाल्यूशन के सुप्रीम लीडर आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनेई ने छात्रों से मुलाक़ात में विभिन्न महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा की और साम्राज्यवादियों से संघर्ष की ज़रूरत पर विशेष बल दिया।
 ................
 तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का सम्मान करते हैं लेकिन इस्राईल की नकेल कसो : लेबनान दक्षिण कोरिया ने आंग सान सू ची से ग्वांगजू पुरस्कार वापस लेने का फैसला किया । सूडान ने इस्राईल के अरमानों पर पानी फेरा, संबंध सामान्य करने से किया इंकार । हज़रत फ़ातिमा मासूमा स.अ. सऊदी अरब का अमेरिका को कड़ा संदेश, हमारे मामले में मुंह बंद रखे सीनेट । इदलिब की आज़ादी प्राथमिकता, अतिक्रमणकारियों को सीरिया से भागना ही होगा : दमिश्क़ हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स की मांग, अमेरिका से राजनैतिक संबद्धता कम करे इंग्लैंड। अवैध राष्ट्र ने लगाई गुहार, लेबनान सेना पर दबाव बनाए अमेरिका । अमेरिकी गठबंधन आतंकी संगठनों की मदद से सीरिया के तेल संपदा को लूटने में व्यस्त । मासूमा ए क़ुम स.अ. की शहादत के शोक में डूबा ईरान, क़ुम समेत देश भर में मातम । अमेरिका ने स्वीकारा, असद को पदमुक्त करना उद्देश्य नहीं । सिर्फ दो साल, और साठ हज़ार लोगों की जान ले चुका है यमन संकट । हमास ने दिया इस्राईल को गहरा झटका, पकडे गए ड्रोन विमानों का क्लोन बनाया । आले सऊद की काली करतूत, क़तर पर हमला कर हड़पने की साज़िश का भंडाफोड़ । रूस मामलों में पोम्पियो की कोई हैसियत नहीं, अमेरिका की विदेश नीति का भार जॉन बोल्टन के कंधों पर : लावरोफ़