Wed - 2018 June 20
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 78652
Date of publication : 13/7/2015 15:35
Hit : 184

बातचीत विफल होने की स्थिति में यूरेनियम उन्नती बढ़ा दी जाएगी

ईरान की संसद के उप सभापति ने कहा है कि यदि परमाणु बातचीत विफल रही तो ईरान अपनी यूरेनियम उन्नती की प्रक्रिया का दायरा बढ़ा देगा।


विलायत पोर्टलः ईरान की संसद के उप सभापति ने कहा है कि यदि परमाणु बातचीत विफल रही तो ईरान अपनी यूरेनियम उन्नती की प्रक्रिया का दायरा बढ़ा देगा। सैयद मुहम्मद हसन अबूतुराबी फ़र्द ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि यदि पश्चिमी पक्षों ने बातचीत में रुकावटें खड़ी करने का क्रम जारी रखा और बातचीत को विफल कर दिया तो ईरान भी समस्त संसाधनों का प्रयोग करते हुए यूरेनियम उन्नती की प्रक्रिया बढ़ा देगा। उनका कहना था कि इस समय नतन्ज़ परमाणु प्रतिष्ठान में 1900 सेन्ट्रीफ़्यूज मशीनें मौजूद हैं किन्तु केवल 900 सेन्ट्रीफ़्यूज मशीनों का प्रयोग हो रहा है। अबूतुराबी फ़र्द ने कहा कि हम समस्त 1900 सेन्ट्रीफ्यूज मशीनों का प्रयोग कर सकते हैं। ईरान के उप संसद सभापति ने इस बात पर बल देते हुए कि संसद और देश के अन्य अधिकारियों की नीतियों में कोई अंतर नहीं पाया जाता। उनका कहना था कि पिछले वर्ष ईरान की परमाणु उपलब्धियों की रक्षा पर आधारित जो बिल संसद में पास हुआ, उससे इस बात का अनुमान लगाया जा सकता है कि इससे हम इस बात का अनुमान लगा सकते हैं कि ईरान के समस्त अधिकारी, परमाणु बातचीत के संबंध में समान दृष्टिकोण रखते हैं। उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि निश्चित रूप से एक उचित समझौते में ईरान के कुछ हित हैं और यदि समझौता न हुआ तो कुछ लोगों को समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है किन्तु प्राप्त परमाणु उपलब्धियां, इन समस्याओं के मुक़ाबले में कहीं अधिक महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि प्रतिबंधों की दीवार में दराड़ पड़ना आरंभ हो गई है और इन प्रतिबंधों को जारी रखना, पश्चिमी देशों के लिए कठिन होता जा रहा है। उनका कहना था कि ईरान को रोकने के लिए पश्चिम, समस्त उच्चस्तरीय राजनैतिक संसाधनों का प्रयोग कर चुका है किन्तु उसे अभी तक कोई सफलता हाथ नहीं लगी है।
 ................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :