Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 80412
Date of publication : 9/8/2015 12:3
Hit : 317

अरब का अस्तित्व अमरीकी सहायता और समर्थन पर निर्भर।

अमरीका के एक युद्ध विरोधी कार्यकर्ता ने कहा कि क्षेत्र के अरब शासकों का अस्तित्व अमरीका के समर्थन और उसकी सहायता पर निर्भर है।


विलायत पोर्टलः अमरीका के एक युद्ध विरोधी कार्यकर्ता ने कहा कि क्षेत्र के अरब शासकों का अस्तित्व अमरीका के समर्थन और उसकी सहायता पर निर्भर है। प्रेस टीवी से बातचीत करते हुए अमरीका में युद्ध विरोधी आंदोलन के एक सक्रिय कार्यकर्ता टाईग बुरी ने कहा कि क्षेत्र के अरब शासक अमरीका के समर्थन की वजह से शासन कर रहे हैं। उन्होंने प्रेस टीवी के साथ हुई बातचीत में यह भी कहा कि अमरीकी मीडिया और समाचार पत्र आमतौर से यमन में सउदी शासन के पाशविक हमलों के समाचार देने से बचते हैं और यह सिर्फ़ सऊदी शासकों को ख़ुश करने के लिए किया जाता है। युद्ध विरोधी आंदोलन के अमरीकी कार्यकर्ता ने कहा कि यह बिल्कुल वही नीति है जो अमरीका ने अधिकृत फ़िलिस्तीन में इस्राईली अपराधों के संबंध अपना रखी है। टाईग बुरी ने कहा कि सऊदी अरब, यमन की जनता के साथ वही कर रहा है जो ज़ायोनी शासन गज़्ज़ा की अत्याचारग्रस्त और निहत्थी जनता के साथ करता आ रहा है। ज्ञात रहे कि सऊदी अरब, 26 मार्च 2015 से यमन पर बर्बरतापूर्ण हमले कर रहा है जिन हमलों में यमन की आर्थिक और बुनियादी सुविधाओं को भारी नुक़सान पहुंचा है। यमन का प्रतिरोध जनआंदोलन अंसारुल्लाह सऊदी अरब के नेतृत्व में यमन पर हमला करने वाले अरब देशों का डटकर मुक़ाबला कर रहा है और यमन के अधिकतर शहरों में अंसारुल्लाह आंदोलन का कंट्रोल है। ज्ञात रहे कि सऊदी अरब यमन में अल-क़ायदा और आईएसआईएल के आतंकवादियों को पैसे और हथियारों से पूरी तरह से मदद कर रहा है।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अय्याश सऊदी युवराज बिन सलमान ने माँ के बाद अब अपने भाई को बंदी बनाया। क़ासिम सुलेमानी के आदेश पर सीरिया ने इस्राईल पर मिसाइल दाग़े : ज़ायोनी मीडिया यूरोपीय यूनियन के ख़िलाफ़ बश्शार असद का बड़ा क़दम, राजनयिकों का विशेष वीज़ा किया रद्द। अमेरिकी सेना ने माना, इराक युद्ध का एकमात्र विजेता है ईरान । बर्नी सैंडर्स की मांग, सऊदी तानाशाही की नकेल कसे विश्व समुदाय । ईरान विरोधी बैठकों से कुछ हासिल नहीं, यादगारी तस्वीरें लेते रहे नेतन्याहू । हसन नसरुल्लाह का लाइव इंटरव्यू होगा प्रसारित,सऊदी इस्राईली मीडिया की हवा निकली । आले ख़लीफ़ा का यूटर्न , कभी भी दमिश्क़ विरोधी नहीं था बहरैन इदलिब , नुस्राह फ्रंट के ठिकानों पर रूस की भीषण बमबारी । हश्दुश शअबी की कड़ी चेतावनी, आग से न खेले तल अवीव,इस्राईल की ईंट से ईंट बजा देंगे । दमिश्क़ पर फिर हमला, ईरानी हित थे निशाने पर, जौलान हाइट्स पर सीरिया ने की जवाबी कार्रवाई । नहीं सुधर रहा इस्राईल, दमिश्क़ के उपनगरों पर फिर किया हमला। अमेरिका में गहराता शटडाउन संकट, लोगों को बेचना पड़ रहा है घर का सामान । हसन नसरुल्लाह ने इस्राईली मीडिया को खिलौना बना दिया, हिज़्बुल्लाह की स्ट्रैटजी के आगे ज़ायोनी मीडिया फेल । रूस और ईरान के दुश्मन आईएसआईएस को मिटाना ग़लत क़दम होगा : ट्रम्प