Thursday - 2018 July 19
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 80753
Date of publication : 15/8/2015 19:25
Hit : 236

विश्व अहलेबैत असेंब्ली की छठी कान्फ़्रेन्स तेहरान में शुरु

राष्ट्रपति रूहानी ने पवित्र इस्लाम में फेर बदल की साज़िश से निपटने पर ज़ोर दिया है।


विलायत पोर्टलः राष्ट्रपति रूहानी ने पवित्र इस्लाम में फेर बदल की साज़िश से निपटने पर ज़ोर दिया है। डाक्टर हसन रूहानी ने विश्व अहलेबैत असेंब्ली की छठी बैठक में क्षेत्र में आतंकवादी गुटों की तरफ़ से फैलायी जा रही हिंसा का उल्लेख किया और कहा कि दुश्मन नैतिकता और भाईचारे के धर्म इस्लाम को हिंसा, चरमपंथ, जनसंहार और फूट का समर्थक धर्म दर्शाना चाहता है। हमे दुश्मन के इस षड्यंत्र के ख़िलाफ़ डट जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कल को हमने धर्म से दूर करने के षड्यंत्र का मुक़ाबला किया और आज धर्म को बर्बाद करने की साज़िश का सामना है जिसके ख़िलाफ़ हमें डट जाना चाहिए। विश्व अहलेबैत असेंब्ली की छठी बैठक शनिवार की सुबह राजधानी तेहरान में शुरु हुई। इस्लामी उद्देश्य की प्राप्ति के लिए एकता को मज़बूत करना इसका नारा है। इस चार दिवसीय बैठक में 130 देशों के 700 मेहमान और कुछ राजनैतिक व सांस्कृतिक हस्तियां भी भाग ले रही हैं। लेबनान के हिज़्बुल्लाह संगठन के उपसचिव शैख़ नईम क़ासिम, इराक़ के पूर्व प्रधान मंत्री नूरी मालेकी, इराक़ की उच्च इस्लामी परिषद के अध्यक्ष सय्यद अम्मार हकीम, वरिष्ठ नेता के अंतर्राष्ट्रीय मामलों के सलाहकार अली अकबर विलायती, वरिष्ठ नेता का चयन करने वाली समिति के सदस्य आयतुल्लाह अहमद ख़ातेमी, इस्लामी रिवाल्यूशन संरक्षक बल सिपाहे पासदारान के कमान्डर यहया रहीम सफ़वी व्ग़ैरह भाग ले रहे हैं। वर्ष 1990 में विश्व अहलेबैत असेंब्ली की निव पड़ी और हर चार साल में इस संगठन की आम बैठक होती है।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :