Friday - 2018 August 17
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 87168
Date of publication : 12/11/2015 18:0
Hit : 208

हिज़्बुल्लाह

अमेरिकी और इस्राईली आतंकवाद से संघर्ष पर हमें गर्व हैः

लेबनान के हिज़्बुल्लाह संगठन के महासचिव ने कहा है कि हिज़्बुल्लाह से अमरीका व इस्राईल की दुश्मनी पर हमें फ़ख़्र है।

विलायत पोर्टलः लेबनान के हिज़्बुल्लाह संगठन के महासचिव ने कहा है कि हिज़्बुल्लाह से अमरीका व इस्राईल की दुश्मनी पर हमें फ़ख़्र है। सैयद हसन नसरुल्लाह ने बुधवार की शाम हिज़्बुल्लाह के शहीदों को श्रद्धांजली अर्पित करने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और ज़ायोनी प्रधानमंत्री बेनयामिन नेतनयाहू की मुलाक़ात और उसमें हिज़्बुल्लाह के बारे में बात किए जाने की तरफ़ इशारा करते हुए कहा कि हमें उनकी और क्षेत्र में उनके पिट्ठुओं की दुश्मनी पर गर्व है। ज़ाहिया में इस कार्यक्रम को वीडियो कान्फ़्रेंसिंग के माध्य से संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हिज़्बुल्लाह से ओबामा और नेतनयाहू की यह दुश्मनी इस बात का सबसे बड़ा सबूत है कि हम सही रास्ते पर आगे बढ़ रहे हैं। हिज़्बुल्लाह के महासचिव ने कहा कि पूरे लेबनान ख़ासकर दक्षिणी क्षेत्रों में जो शांति व सुरक्षा व्याप्त है वह लेबनान की सेना, प्रतिरोधकर्ताओं के बलिदान, शहादतप्रेम तथा उनके पवित्र ख़ून की वजह है। सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि शहीदों के पवित्र ख़ून की सबसे महत्वपूर्ण उपलब्धि लेबनान की आज़ादी और जनता की इज़्ज़त व प्रतिष्ठा है और भविष्य में भी जेहाद व प्रतिरोध, शहादतप्रेम, सम्मान और जागरूकता की जो भावना बनी रहेगी वह इसी पवित्र ख़ून का नतीजा है। 11 नवम्बर को लेबनान की पहले शहादत प्रेमी कार्यवाही करने वाले अहमद क़सीर की शहादत का दिन है और इस दिन को हिज़्बुल्लाह के शहीद दिवस का नाम दिया गया है। अहमद क़सीर ने 11 नवम्बर 1982 को लेबनान में ज़ायोनी शासन के विरुद्ध पहली शहादत प्रेमी कार्यवाही की थी जिसमें सौ से ज़्यादा ज़ायोनी सैनिक मारे गए थे।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :