Friday - 2018 August 17
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 87283
Date of publication : 14/11/2015 21:4
Hit : 228

यमन के भगोड़े राष्ट्रपति ने अपनी हार क़बूल की

यमन के भगोड़े राष्ट्रपति ने इस बात को स्वीकार किया है कि उनको और उनके साथियों को यमन की जनता तथा जनांदोलन अंसारुल्लाह के साथ युद्ध में हार हुई है।

विलायत पोर्टलः यमन के भगोड़े राष्ट्रपति ने इस बात को स्वीकार किया है कि उनको और उनके साथियों को यमन की जनता तथा जनांदोलन अंसारुल्लाह के साथ लड़ाई में हार का सामना करना पड़ा है। यमन के अल-हयाद नेटवर्क की रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब और उसके गठबंधन के घिनौने और बर्बरतापूर्ण हमलों के सामने यमनी जनता और अंसारुल्लाह जनांदोलन के पूरी एकता और दृढ़ता से डटे रहने ने भगोड़े राष्ट्रपति मंसूर हादी को मजबूर कर दिया है कि वे अब सार्वजनिक रूप से अपनी हार को स्वीकार कर रहे हैं। मंसूर हादी ने यमन की जनता द्वारा मज़बूती से सऊदी आक्रमणताओं का मुक़ाबला करने और सऊदी गठबंधन की नाकामी की तरफ़ इशारा करते हुए कहा कि अंसारुल्लाह के जवानों ने देश के सेंट्रल बैंक को अपने कंट्रोल में लेकर प्रांतों और शहरों के बजट अपने अधिकार में ले लिया है और यह बात हमारे कंट्रोल वाले क्षेत्रों के लिए एक बड़ी हार है। ज्ञात रहे कि यमनी सेना और स्वयंसेवी बलों के जवानों ने पिछले महीने दक्षिण पूर्वी यमन के शबवह प्रांत में महत्वपूर्ण कामयाबी हासिल की है यहां तक कि दक्षिणी यमन के ज़ालेअ प्रांत में सऊदी अरब के कई सैन्य अड्डों और दमत शहर को अपने कंट्रोल में ले लिया।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :