Monday - 2018 May 21
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 88995
Date of publication : 8/12/2015 7:55
Hit : 189

इराक़ में तुर्की सेना की मौजूदगी के विरूद्ध प्रदर्शन।

इराक के बद्र संगठन के महासचिव हादी अलआमेरी ने भी इराकी जनता से अपने देश की संप्रभुता के समर्थन और इराकी मामलों में तुर्की और अमेरिका के हस्तक्षेप के खिलाफ आगामी शुक्रवार को प्रदर्शन करने की अपील की है।

विलायत पोर्टलः इराकी अधिकारियों के साथ साथ बड़ी संख्या में नागरिकों ने भी अपने देश से तुर्की सैनिकों की तत्काल वापसी की मांग की है।
रिपोर्टों के अनुसार इराकी नागरिकों ने अपने देश में तुर्की सैनिकों की मौजूदगी के खिलाफ मंगलवार को राजधानी बग़दाद में प्रदर्शन किया। तुर्की के दूतावास के सामने होने वाले इस प्रदर्शन में इराक से तुर्की सैनिकों की तत्काल वापसी की मांग की गई। प्रदर्शनकारियों ने तुर्की के खिलाफ नारे लगाए औऱ इराक़ के आंतरिक मामलों में तुर्की के हस्तक्षेप की निंदा की।
उधर इराक के उत्तरी प्रांत नैनवा के गवर्नर ने बगदाद की प्रांतीय परिषद से इराक में तुर्की सैनिकों की मौजूदगी के परिणामों की समीक्षा के लिए बैठक बुलाने की अपील की है। इराक के बद्र संगठन के महासचिव हादी अलआमेरी ने भी इराकी जनता से अपने देश की संप्रभुता के समर्थन और इराकी मामलों में तुर्की और अमेरिका के हस्तक्षेप के खिलाफ आगामी शुक्रवार को प्रदर्शन करने की अपील की है।
दूसरी ओर इराकी संसद में राष्ट्रीय सुरक्षा आयोग के प्रमुख हाकिम अलज़ामुली ने बग़दाद में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा है कि इराक़ अपनी संप्रभुता की रक्षा करने के लिए पूरी तरह तैयार है। उन्होंने कहा कि बग़दाद और अंकारा के बीच ऐसा कोई समझौता नहीं है जिसके तहत तुर्क सशस्त्र सेनाओं को इराक में तैनात किया जा सके। इराक़ के राष्ट्रीय सुरक्षा आयोग के प्रमुख ने कहा कि अगर तुर्की ने संयुक्त राष्ट्र और अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठनों की बात न मानी तो इराक़ अपनी संप्रभुता की रक्षा करने के लिए तैयार है।
इससे पहले इराक के राष्ट्रीय सुरक्षा आयोग द्वारा जारी बयान में कहा गया था कि अगर तुर्की ने इराक से अपने सैनिक वापस नहीं बुलाए तो बगदाद, अंकारा के खिलाफ किसी भी तरह की कार्यवाही का अधिकार रखता है।
गौरतलब है कि तुर्की ने 4 दिसंबर को, अपने दर्जनों सैनिक इराक़ के उत्तरी प्रांत नैनवा के मूसेल शहर रवाना किए थे जो बशीका नामक क्षेत्र में तैनात हैं। इराक़ ने तुर्की को उसके सैनिकों की वापसी के लिए 48 घंटे का समय दिया था जो आज रात समाप्त हो रहा है।
उल्लेखनीय है कि तुर्क सैनिकों के इराक़ में प्रवेश पर इराकी अधिकारियों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। इराकी अधिकारियों ने तुर्की के इस कदम को इराक की संप्रभुता का उल्लंघन बताया है।
याद रहे कि तुर्की के दर्जनों सैनिक इराक की कुर्द पेशमर्गा फोर्स को प्रशिक्षण देने के बहाने 4 दिसंबर से इराक के उत्तरी प्रांत नैनवा के क्षेत्र बशीका में डेरा जमाए हुए हैं।



आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :