Friday - 2018 August 17
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 89092
Date of publication : 10/12/2015 19:8
Hit : 243

एसोसिएटेड प्रेस

मिना घटना के शहीदों की संख्या सऊदी अधिकारियों की घोषणा से तीन गुना अधिक है।

दुनिया के लगभग छत्तीस देशों द्वारा जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार सऊदी सरकार ने मिना घटना में शहीद होने वालों की केवल एक तिहाई संख्या को स्वीकार किया है।



विलायत पोर्टलः दुनिया के लगभग छत्तीस देशों द्वारा जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार सऊदी सरकार ने मिना घटना में शहीद होने वालों की केवल एक तिहाई संख्या को स्वीकार किया है।
एसोसिएटेड प्रेस के अनुसार मिना त्रासदी में शहीद होने वाले हाजियों की संख्या इससे तीन गुना अधिक है जितनी सऊदी अधिकारियों ने बयान की है। एसोसिएटेड प्रेस की नवीनतम रिपोर्ट में कहा गया है कि कम से कम 2411 हाजी मिना त्रासदी में शहीद हुए हैं और यह संख्या सऊदी अधिकारियों द्वारा जारी आंकड़ों से तीन गुना अधिक है। यह आंकड़ा दुनिया के उन छत्तीस देशों द्वारा जारी सरकारी आंकड़ों के आधार पर संकलित किए गए हैं जिनके हाजी मिना त्रासदी में मारे गए हैं। इस रिपोर्ट के अनुसार अभी भी हजारों हाजियों का कोई पता नहीं चल सका है।
सऊदी अधिकारियों द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार मिना त्रासदी में केवल 769 हाजी शहीद हुए हैं। इस रिपोर्ट के अनुसार मिना त्रासदी में सबसे ज़्यादा ईरानी हाजी शहीद हुए और उनकी संख्या 464 बताई गई है। इसके बाद माली, नाईजीरिया और मिस्र के क्रमशः 305, 274 और 190 हाजी शहीद हुए। 137 बांग्लादेशी, 129 इंडोनेशिया, 120 भारतीय, 103 कैमरूनी और 102 पाकिस्तानी हाजी भी मिना त्रासदी में शहीद हुए हैं।
मिना त्रासदी में शहीद होने वाले नाइजीरिया के हाजियों की संख्या 92, सेनेगाल के 61, इथियोपिया के 53, आइवरी कोस्ट के 52, बेनिन के 50, अल्जीरिया के 46, चाड के 33, मोरक्को के 42, सूडान के 30, तंजानिया के 25, बवर्कीना फासो के 22, केन्या के चौदह और सोमालिया के हाजियों की संख्या 12 बताई गई है। मिना त्रासदी में, घाना, ट्यूनीशिया और तुर्की में से प्रत्येक के सात हाजी, लीबिया और म्यांमार के 6, चीन के 4, अफगानिस्तान, जीबोटी, गाम्बिया और जॉर्डन के 2,2 और लेबनान, मलेशिया, फिलीपींस और श्रीलंका के एक एक हाजी मिना त्रासदी में शहीद हुए हैं।
यह रिपोर्ट ऐसे समय में सामने आई है जब इस त्रासदी को तीन महीने से अधिक समय बीतने के बावजूद सऊदी अरब सरकार ने मिना घटना में शहीद होने वालों के सही और पूर्ण आंकड़े जारी नहीं किए हैं। विभिन्न देशों की सरकारों और हज विभाग का कहना है कि उनके हजारों हाजी, मिना त्रासदी के बाद से लापता हैं और अभी तक उनके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है। कुछ रिपोर्टों में मिना त्रासदी में शहीद होने वाले हाजियों की संख्या हजारों में बताई गई है। मिना त्रासदी से कुछ दिन पहले मस्जिदुल हराम के यार्ड में क्रेन गिरने से 107 हाजी शहीद हो गए थे।
इस साल मिना में होने वाला कांड, 1999 के बाद से हज के दौरान घटित होने वाली सबसे बड़ी और भयानक दुर्घटना है। 25 साल पहले हज के दौरान एक सुरंग बंद होने के परिणाम स्वरूप 1500 हाजी अपनी जान से हाथ धो बैठे थे। हज के दौरान प्रबंधन में पाई जाने वाली कमजोरियों और हाजियों की जान की सुरक्षा में विफलता के कारण दुनिया भर में सऊदी सरकार की कड़ी आलोचना की जा रही है। मिना त्रासदी और हज के दौरान पेश आने वाली अन्य घटनाओं में सऊदी अरब के कुप्रबंधन और लापरवाही को देखते हुए, हज प्रबंधन को दूसरे देशों के हवाले किए जाने की मांग बढ़ती जा रही है।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :