Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 96935
Date of publication : 29/3/2016 18:16
Hit : 124

आस्ट्रिया राष्ट्रपति ने ईरान को मध्यपूर्व का महत्वपूर्ण देश बताया।

आस्ट्रिया के राष्ट्रपति बेनेन्ज़ फ़िशर ने ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी के आस्ट्रिया दौरे के मौक़े पर एक बयान में कहा कि इस्लामी रिपब्लिक ईरान और आस्ट्रिया के बीच पुराने संबंध हैं।

विलायत पोर्टलः आस्ट्रिया के राष्ट्रपति ने कहा है कि इस्लामी रिपब्लिक ईरान, तनावग्रस्त मध्यपूर्व का बहुत महत्वपूर्ण और बड़ा देश है। आस्ट्रिया के राष्ट्रपति बेनेन्ज़ फ़िशर ने ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी के आस्ट्रिया दौरे के मौक़े पर एक बयान में कहा कि इस्लामी रिपब्लिक ईरान और आस्ट्रिया के बीच पुराने संबंध हैं। उन्होंने कहा कि ईरान, मध्यपूर्व का महत्वपूर्ण देश है और दुनिया, ईरान की भागीदारी से इस इलाक़े के संकट को किसी सीमा तक कम कर सकती है। आस्ट्रिया के राष्ट्रपति ने सीरिया संकट की तरफ़ इशारा करते हुए कहा कि इस संकट के नतीजे में न सिर्फ़ बहुत ज़्यादा जानी नुक़सान हुआ है बल्कि यूरोप को शरणार्थियों के रेले का भी सामना करना पड़ा है। उन्होंने कहा कि इलाक़े की एक महत्वपूर्ण शक्ति के रूप में ईरान की मदद से यूरोप, इस संकट को ख़त्म कर सकता है। बेनेन्ज़ फ़िशर ने ईरान और गुट पांच धन एक की परमाणु बातचीत के परिणामदायक होने और जेसीपीओए के क्रियान्वयन को ईरान और यूरोप के बीच संबंधों में नये अध्याय की शुरूआत बताया। उन्होंने कहा कि जेसीपीओए के क्रियान्वयन से ईरान और आस्ट्रिया के बीच संबंधों में नया अध्याय आरंभ हुआ है। उन्होंने तेहरान के अपने कामयाब दौरे और ईरान में इस्लामी रिवाल्यूशन के वरिष्ठ नेता, राष्ट्रपति रूहानी और अन्य ईरानी अधिकारियों के साथ होने वाली मुलाक़ातों का उल्लेख करते हुए कहा कि ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी का आस्ट्रिया दौरा, दोनों देशों के संबंधों को ज़्यादा से ज़्यादा बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। आस्ट्रिया के राष्ट्रपति ने कहा कि उनका देश, ईरान के साथ सभी क्षेत्रों में संबंधों ख़ासकर ऊर्जा, अर्थव्यवस्था, शिक्षा और विज्ञान के क्षेत्रों में सहयोग को ज़्यादा से ज़्यादा विस्तार करना चाहता है।
..................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

ज़ियारते आशूरा की फ़ज़ीलत इस्राईल और ज़ायोनियों ने 50 साल दुआ की तब बिन सलमान जैसा दोस्त मिला : हारेत्ज़ आले सऊद की हैवानियत, जमाल की हत्या का आदेश देकर कहा, इस कुत्ते का सर मेरे पास ले आना इराक से अमेरिकी सेना को निकालना प्रधानमंत्री की प्राथमिकता में शामिल, बुधवार को संसद का अधिवेशन भारत और ईरान मिलकर बनाएंगे खुद का सैटेलाइट नेविगेशन सिस्टम ! ईरान - इराक बॉर्डर पर पहुंचे महमूद अलवी, ज़ायरीन पर आतंकी हमलों की योजना विफल सऊदी शासक की सच्चाई पर शक नहीं लेकिन 'पूर्वनियोजित थी जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या : अर्दोग़ान जमाल ख़ाशुक़जी के परिवार के लिए हत्यारों ने भेजा शोक संदेश तेहरान और रियाज़ के बीच मध्यस्था को तैयार, पाकिस्तान को आर्थिक सहायता दे सऊदी अरब : इमरान खान मुख्तार हन्नानी का बिन सलमान पर कड़ा कटाक्ष, सच्चा लीडर खुद को बचने के लिए अपने साथियों की भेंट नहीं देता ! आले सऊद की दरिंदगी, रसूल स.अ. के सहाबी मआज़ बिन जबल की बनाई यमन की ऐतिहासिक मस्जिद को किया शहीद! जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या दुखदायी, लेकिन हमे पैसों की ज़रूरत : इमरान खान पाकिस्तान, क़तर की सिफारिश पर तालेबान लीडर मुल्ला बरादर जेल से आज़ाद ईरान की मांग, सऊदी अरब को मानवाधिकार परिषद से निकाले संयुक्त राष्ट्र इस्लामी जगत से सऊदी अरब को किनारे लगा खुद नेतृत्व चाहता है तुर्की : गार्डियन