हिंदुस्तान
Thursday - 2018 Sep 20
Languages

मुसलमानों को एक दूसरे के हाथों क़त्ल कराना और युद्ध भड़काना है अमेरिका की नीति।

इस्लाम और मुसलमानों के खिलाफ उसकी अहम् रणनीति युद्ध की आग को भड़काना है उसकी शर्मनाक और निंदनीय कोशिशें मुसलमानो का एक दूसरे के हाथों क़त्ले आम कराना, ज़ालिमों को मज़लूमों और पीड़ितों पर थोपना , अत्याचारियों की सहायता करना , मज़लूमों और पीड़ितों को निर्दयता से कुचलना और हमेशा फसाद की आग को भड़काए रखना है ।

8/20/2018 3:00:00 PM

आयतुल्लाह ख़ामेनई की ओर से बंदी लोगों की आज़ादी के लिए 18 अरब तूमान की सहायता ।

ईरान में हार साल माहे मुबारक रमज़ान के अवसर पर न्यायपालिका के अधिकारियों की देखरेख में चिराग़े आईनहाये गुलरीज़ान के नाम से ऐसे लोगों की रिहाई के लिए दंड की रक़म जुटाने का अभियान शुरू किया जाता है जो गैर इरादतन अपराध में जेल की सजा काट रहे होते हैं ।

7/3/2018 10:51:29 AM

माहे रमज़ान में बेहतरीन दुआ मग़फ़ेरत की दुआ है: आयतुल्लाह ख़ामेनई

इस्लाम में गुनाहों का माफ़ करने वाला केवल अल्लाह है यहां तक कि पैग़म्बर स.अ. भी गुनाहों को नहीं माफ़ कर सकते हैं जैसाकि क़ुर्आन की आयत में इसका ज़िक्र कुछ इस तरह बयान हुआ है कि ऐ पैग़म्बर अगर इन लोगों ने गुनाह किया और आपके पास आ कर मग़फ़ेरत और इस्तेग़फ़ार का सवाल करें तो आप भी उन लोगों के हक़ में तौबा कीजिए अल्लाह उनकी तौबा को क़ुबूल करने वाला है, इस आयत से ज़ाहिर कि पैग़म्बर स.अ. उन लोगों के लिए इस्तेग़फ़ार करते हैं उनकी मग़फ़ेरत के लिए वसीला बनते हैं न कि उनकी तौबा को क़ुबूल करते हैं यानी गुनाह केवल अल्लाह ही माफ़ कर सकता है किसी और को इसका अधिकार नहीं है।

6/6/2018 4:16:05 PM

आयतुल्लाह ख़ामेनई की निगाह में शबे क़द्र की आहमियत

माहे रमज़ान के दिन हों या रात अपने दिलों को अल्लाह के ज़िक्र से जितना हो सके नूरानी बनाईए ताकि शबे क़द्र के आने तक आपका नफ़्स इस क़ाबिल हो चुका हो कि वह उस रात से भरपूर फ़ायदा हासिल कर सके जिसकी ख़ासियत क़ुर्आन ने यह बताई है कि शबे क़द्र हज़ार महीनों से बेहतर है और जिसमें अल्लाह की इजाज़त से फ़रिश्ते ज़मीन को आसमान से जोड़ देते हैं, दिलों को अल्लाह के नूर और उसके फ़ज़्ल से रौशन कर देते हैं, जो दिलों को मानवियत से भर देने और मरीज़ों के शिफ़ा हासिल करने और रूहानी बीमारियों के इलाज वाली रात है

6/2/2018 2:14:47 PM

आयतुल्लाह ख़ामेनई से मुलाक़ात करने पहुंचे श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना।

श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना ने आज ईरान की इस्लामी क्रांति के सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई से मुलाक़ात की ।

5/13/2018 6:18:40 PM

अमेरिका की चौधराहट खत्म करने के लिए इस्लामी जगत को एकता और वैज्ञानिक प्रगति की आवश्यकता : आयतुल्लाह ख़ामेनई

अयातुल्लाह ख़ामेनई ने मुस्लिम देशों के शिक्षा क्षेत्र में पिछड़ेपन को अमेरिकी और साम्राज्यवादी शक्तियों के प्रभाव में रहने का कारण बताते हुए कहा कि हमे शिक्षा के हर क्षेत्र में आगे बढ़ना होगा आज कुछ इस्लामी देशों के शासक साम्राज्यवादी शक्तियों के अधीन काम कर रहे हैं इस से निकलने का एकमात्र रास्ता है शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ना। ईरानअपनी वैज्ञानिक उन्नतियां और उपलब्धियां इस्लामी देशों के साथ साझा करने को तैयार है।

5/12/2018 4:08:00 AM

अमेरिका के विश्वासघात ने एक बार फिर आयतुल्लाह ख़ामेनई की दूरदर्शिता और सच्चाई को साबित किया : आयतुल्लाह जन्नती

परमाणु वार्ता के आरम्भ से लेकर ही इस्लामी क्रांति के सुप्रीम लीडर अमेरिका को लेकर बार चेताते रहे हैं कि अमेरिका भरोसे के योग्य नहीं है उस पर भरोसा नहीं किया जा सकता, अब ट्रम्प के इस फैसले ने भी साबित कर दिया कि आयतुल्लाह ख़ामेनई का नज़रिया सबसे अच्छा सबसे गहन और दूरदर्शी है वह सबसे अच्छी सियासी सूझबूझ रखने वाले नेता है तथा दुश्मन को सबसे अच्छे तरीके से जानते और पहचानते हैं ।

5/9/2018 6:34:34 PM

ईरान के विरुद्ध वॉर रूम का काम कर रहा है अमेरिकी वित्तमंत्रालय : आयतुल्लाह ख़ामेनई

अमेरिका सऊदी अरब को ईरान के खिलाफ उभार रहा है वह इस क्षेत्र में मुस्लिम देशों को एक दूसरे के साथ भिड़ाना चाहता है अमेरिका इस्राईल को क्यों हमारे खिलाफ कारयवाई करने के लिए नहीं उभारता ?

4/30/2018 2:34:05 PM

शाबान में ही माहे मुबारक रमज़ान की तैयारी करें ।

मैंने एक बार इमाम ख़ुमैनी र.ह. से सवाल किया कि अहलेबैत अ.स. से मन्क़ूल और मंसूब दुआओं में आप सबसे ज़्यादा किस से मानूस हैं तो आप ने फ़रमाया था कि मुनजाते शाबानिया और दुआए कुमैल!

4/26/2018 6:56:47 PM

मुसलमानों की ज़िल्लत और बर्बादी का कारण क़ुर्आन से बेरुखी , क़ुर्आन का दमन थाम साम्राज्यवादी शक्तियों के सामने डटा है ईरान : आयतुल्लाह ख़ामेनई

आयतुल्लाह ख़ामेनई ने कह कि इस्लामी ईरान क़ुर्आन और इस्लामी सद्धांतों पर अमल करते हुए पिछले 40 साल से साम्राज्यवादी शक्तियों के मुक़ाबले पर डटा हुआ है जो लोग इस इस्लामी सत्ता प्रणाली को मिटाने चाहते थे वह भी आज हमारी ताक़त , विकास और क्षमता को देखकर आश्चर्यचकित हैं।

4/26/2018 3:02:19 PM

  • रिकार्ड संख्या : 179