Thursday - 2018 Sep 20
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 190950
Date of publication : 17/12/2017 18:12
Hit : 598

इस्लाम दुश्मनी पर बना अमेरिका और ज़ायोनिज़्म का मनहूस संगठन : आयतुल्लाह ख़ामेनई

इस्लाम अपनी बरकत और अपनी शिक्षाओं के बल पर इस्लामी देशों में ऐसी शक्ति और क्रांति ला सकता है जिस के बाद दुनिया का कोई भी देश या समाज उनको अपने प्रभाव में नहीं ले सकता, लेकिन हैरत होती है कि यह लोग इस महान नेमत से कोई लाभ नहीं उठा रहे हैं ।


विलायत पोर्टल :  आज मुसलमनों को जिस चीज़ की सबसे अधिक आवश्यकता है और जिस चीज़ की ओर सबसे कम ध्यान दिया जाता है वह है इस्लामी सिद्धांतों की ओर वापसी, इस्लामी शक्ति पर भरोसा और आपसी एकता और एकजुटता । आज इस्लाम दुश्मनों ने इस्लाम की प्रति अपनी शत्रुता और बढ़ा दी है तथा इस बात का खुल कर ऐलान भी कर दिया है, इस्लाम के विरुद्ध पहले भी दुश्मनी होती रही है लेकिन आज दुश्मनी का स्तर बहुत बढ़ गया है और यह दुश्मनी खुले आम निभाई जा रही है । इस सूची में सबसे ऊपर अमेरिका और ज़ायोनिज़्म का मनहूस गठजोड़ है ।
साम्राज्यवादी शक्तियों के नेतृत्व में ज़ायोनिज़्म और अमेरिकी गठजोड़ इस्लामी देशों की एकता को नष्ट करते हुए मुसलमानों के सामाजिक विकास में बाधा उत्पन्न कर रहा है । खेद की बात है कि कुछ अरब नेताओं ने अपने हालात बहुत दयनीय बना लिए हैं, आशा है कि यह लोग किसी दिन फिलिस्तीन के लुटेरों और यहाँ बर्बरता फैलाने वालों के विरुद्ध कोई क़दम उठाएंगे । हालात यह हो गए हैं कि यह अरब नेता अपने आपको इस मनहूस गठजोड़ के मुक़ाबले में हारा हुआ और पहले से अधिक कमज़ोर महसूस कर रहे हैं । कितना अच्छा होता अगर यह लोग इस्लामी शक्ति का सही आंकलन कर लेते और इस शक्ति को समझते हुए इस पर भरोसा करते, क्योंकि यही वह शक्ति है जो उन्हें स्वतन्त्रता , स्थिरता, आज़ादी और पहचान देगी, लेकिन दुःख की बात है कि बहुत से अरब नेताओं को इस नेमत का अहसास तक नहीं है । इस्लाम अपनी बरकत और अपनी शिक्षाओं के बल पर इस्लामी देशों में ऐसी शक्ति और क्रांति ला सकता है जिस के बाद दुनिया का कोई भी देश या समाज उनको अपने प्रभाव में नहीं ले सकता, लेकिन हैरत होती है कि यह लोग इस महान नेमत से कोई लाभ नहीं उठा रहे हैं ।
.......................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :