Thursday - 2018 Sep 20
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 191923
Date of publication : 5/2/2018 16:18
Hit : 656

अच्छे दोस्त की पहचान

हमारी ज़िंदगी का बहुत अहम फ़ैसला है कि हम सही दोस्त को चुनें जिसकी दोस्ती हमें अल्लाह से क़रीब कर सके। इस लेख में हदीसों की रौशनी में एक सच्चे और अच्छे दोस्त की पहचान के कुछ तरीक़ों की ओर इशारा कर रहे हैं।


विलायत पोर्टल :  दोस्ती हमारी ज़िंदगी का एक अहम हिस्सा है, हम में से शायद ही कोई हो जिसके दोस्त न हों, और दोस्त होना भी चाहिए क्योंकि इमाम अली अ.स. का नहजुल बलाग़ा में फ़रमान है कि दोस्त का न होना ग़रीबी है और इस बात को भी कोई मना नहीं कर सकता कि दोस्ती का असर हमारी ज़िंदगी पर पड़ता है अगर दोस्त अच्छा हुआ तो उसका अच्छा असर हमारी ज़िंदगी पर पड़ेगा लेकिन कहीं अगर हमारी दोस्ती बुरे लोगों से हुई जिसे समाज में बुरी संगत कहा जाता है तो फिर हमारी ज़िंदगी गुमराही तक भी जा सकती है जिसकी मिसालें इतिहास में बे शुमार दिखाई देते हैं।
जब दोस्ती का हमारी ज़िंदगी पर असर पड़ता है और हमारी ज़िंदगी बर्बाद भी हो सकती है तो अब सबसे अहम चीज़ अच्छे बुरे दोस्त की पहचान है, क्योंकि बुरा इंसान कभी किसी के सामने  बुराई नहीं करता बल्कि वह हमेशा छिप कर बुराई करता है क्योंकि वह जानता है कि अगर खुले आम बुराई अंजाम दी तो उससे दोस्ती तो दूर की बात उसके पास कोई बैठेगा भी नहीं, इसलिए हमारी ज़िंदगी का बहुत अहम फ़ैसला है कि हम सही दोस्त को चुनें जिसकी दोस्ती हमें अल्लाह से क़रीब कर सके। इस लेख में हदीसों की रौशनी में एक सच्चे और अच्छे दोस्त की पहचान के कुछ तरीक़ों की ओर इशारा कर रहे हैं।
1- वह अच्छे बुरे हर तरह के हालात में आपके साथ रहता है, ख़ुशी और अच्छे हालात में किसी के साथ दोस्त का रहना बहुत आसान है और ख़ुशी के माहौल में अच्छे दोस्त की पहचान भी मुश्किल है, लेकिन जब परिस्थिति बिगड़ी हों हालात ख़राब हों उस समय आप अपने चारों तरफ देखिए कौन आपके साथ खड़ा है क्योंकि सच्चा और अच्छा दोस्त आपको कभी मुश्किल हालात और कठिन परिस्थिति में अकेला छोड़ कर नहीं जाएगा, आप आर्थिक तंगी से जूझ रहे हों या बीमार हों या कोई और दूसरी मुश्किल हो उस समय देखिए आपका दोस्त आपके पास आपके साथ खड़ा है या नहीं, अगर वह उस कठिन और दुख के समय खड़ा है तो वह आपका सच्चा और अच्छा दोस्त है लेकिन अगर बहाना बना कर चला गया तो समझ जाइए कि वह दोस्ती के क़ाबिल नहीं है।
2- वह हमेशा आपकी कामयाबी और ख़ुशी चाहेगा, क्या आपकी ज़िंदगी में कोई ऐसा दोस्त आया जो आपकी कामयाबी और ख़ुशी को अपनी ख़ुशी समझते हुए उतना ही ख़ुश हो जितना आप हैं, अगर ऐसा है तो वह ख़ुश होने वाला आपका सच्चा और अच्छा दोस्त है, हमारी ज़िंदगी में अधिकतर ऐसा होता है कभी ऑफ़िस में प्रोमोशन कभी बिजनेस में तरक़्क़ी कभी उच्च पद का मिलना, तो इन ख़ुशी में अगर हमारा दोस्त हमारे साथ ख़ुश है तो वह हमारा सच्चा दोस्त है लेकिन अगर वह हमारी तरक़्क़ी देख कर दुखी हुआ या हमसे दूर हो गया तो समझ जाना चाहिए दोस्ती के क़ाबिल नहीं है।
3- वह तुरंत आपको माफ़ करके आपकी ग़लती को भूल जाएगा, हम सभी के साथ होता है कि कभी हमारी बातों या हमारे मज़ाक़ के कारण हमारा दोस्त हमसे रूठ जाता है, ज़ाहिर है कि अच्छे दोस्त होने के नाते हमें तुरंत माफ़ी मांगनी चाहिए लेकिन कभी कुछ दोस्त ऐसे होते हैं जो माफ़ी मांगने के बाद भी बात को बढ़ाते चले जाते हैं और फिर उस एक मज़ाक़ या बात को असलहे के तौर पर हमारे ख़िलाफ़ इस्तेमाल करते हैं, एक सच्चे और अच्छे दोस्त की पहचान यह है कि अगर दिल से माफ़ी मांगी गई है तो वह न केवल तुरंत माफ़ी को क़ुबूल कर लेता है बल्कि अपने दोस्त को शर्मिंदा भी नहीं होने देता।
4- वह आपके विचारों और अक़ीदों का सम्मान करेगा, बहुत से साथी और दोस्त होते हैं जो अपने विचारों और अपने अक़ीदों को आप पर थोपते हैं कि अगर वह उन विचारों को मानता है तो आप भी मानिए और अगर आप नहीं मानते तो वह ग़ुस्सा हो कर आप से नाराज़ हो जाता है, एक सच्चा और अच्छा दोस्त विचारों और अक़ीदों के अलग अलग होने के बावजूद आपके विचारों को सुनेगा हो सकता है जवाब भी दे लेकिन वह कभी आपके विचारों और अक़ीदों पर किसी तरह की टिप्पणी नहीं करेगा।
5- वह आपकी बात को ध्यान से सुनेगा, बहुत से दोस्त होते हैं जो आपकी बातों को अनसुना कर देते हैं और आपकी बातों के सामने अपनी मुश्किल ले कर बैठ जाते हैं और आप की बातों पर ध्यान देने के बजाए वह आपका ध्यान भी इधर उधर की बातों में लगा देते हैं जिसका नतीजा यह होता है कि वह न आपमें कोई दिलचस्पी रखते हैं न आपकी बातों में, लेकिन एक सच्चा और अच्छा दोस्त न केवल आपकी बात को ध्यान से सुनता है बल्कि आपकी ओर आकर्षित होता है और आपकी अच्छी बातों को दूसरों तक पहुंचाता है।
6- वह आपके क़दम से क़दम मिला कर चलेगा, कभी कभी ऐसा भी होता है कि आप अपने दोस्त के लिए समय भी देते हैं और उसके साथ जहां वह कहता है आते जाते भी हैं लेकिन जब आपको काम होता है तो वह आपको इतनी अहमियत नहीं देता न आपको समय देता है न आपके साथ कहीं आने जाने को तैयार होता है, ज़ाहिर है इस रवैये से आप दोनों के बीच तालमेल बाक़ी नहीं रह सकता, लेकिन एक सच्चा और अच्छा दोस्त आपको भी उतना समय देगा जितना आप उसके लिए देंगे और आपके साथ कहीं भी किसी भी काम से आने जाने के लिए उतना ही उत्सुक रहेगा जितना आप रहते हैं।
7- वह आपकी बुरी आदतों के कारण आपको शर्मिंदा नहीं करेगा, हम सभी के अंदर कुछ नकारात्मक आदतें होती हैं जैसे अधिक बोलना, ऊंची आवाज़ में हंसना या और इस तरह की दूसरी बातें, एक अच्छे दोस्त की पहचान यह है कि वह कभी हमारी इन आदतों की वजह से सबके सामने हमें शर्मिंदा नहीं करेगा, वह जानता है कि आपकी शख़्सियत अहम है इसलिए वह इन कमियों के बावजूद आपका साथ देता है।
8- वह वफ़ादार और भरोसेमंद होगा, अगर दोस्त अच्छा नहीं है तो उससे बड़ा धोखा आपको कोई दूसरा नहीं दे सकता, जैसे आपकी ग़ीबत करना, आपकी निजी बातों को दूसरों से बताना, लेकिन आपका ईमानदार और वफ़ादार दोस्त कभी आपको धोखा नहीं दे सकता और न ही आपके पीठ पीछे आपकी किसी तरह की बुराई कर सकता है न सुन सकता है।
9- वह आपके बारे में किसी तरह का कोई फ़ैसला नहीं करेगा,
हम सब कभी न कभी ज़िंदगी में कोई बेवक़ूफ़ी कर बैठते हैं, ज़ाहिर है ऐसे समय में किसी न किसी को होना चाहिए जो कह सके कि मैंने तुमसे पहले ही कहा था कि यह मत करो वरना ऐसा हो जाएगा...., या खुल के हमारी बेवक़ूफ़ी को बता सके, यह काम एक सच्चा दोस्त ही कर सकता है जो न हमारा मज़ाक़ उड़ाएगा और न हमारी इस बेवक़ूफ़ी के चलते हमारे बारे में किसी तरह को कोई फ़ैसला करेगा बल्कि वह पूरे सम्मान के साथ गले लगा कर हमारी इस बेवक़ूफ़ी की ओर हमारा ध्यान दिलाएगा ताकि भविष्य में फिर कभी ऐसी बेवक़ूफ़ी न हो सके।
10- उसके साथ बीता हुआ हर लम्हा यादगार रहेगा, एक अच्छा और सच्चा दोस्त हमेशा कोशिश करेगा कि उसके साथ बीता हुआ हर लम्हा आपके लिए यादगार पल बन कर रह जाए वह हमेशा ध्यान रखेगा कि कहीं आप उसकी वजह से ऊब न जाएं, उसकी कोशिश रहेगी कि वह वही काम करे जिससे आपके चेहरे पर ख़ुशी बनी रहे।
..................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :