Thursday - 2018 Sep 20
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 192565
Date of publication : 12/3/2018 17:30
Hit : 192

ज़ायोनी राष्ट्र के बाद संयुक्त अरब अमीरात के युवराज ने भी शुरू की मानव तस्करी ।

अरब अमीरात इन देशों से मानव तस्करी कर दासता प्रथा को फिर से ज़िंदा करने की कोशिश कर रहा है वह यूरोप जाने की इच्छा रखने वाले लोगों को अन्य देशों की ओर भेज रहे हैं तथा उनकी क़ीमत वसूल कर उन्हें बेचा जा रहा है , उन्हें यमन युद्ध के अलावा भी अन्य युद्धों और हिंसक कार्रवाईयों में झोंका जा रहा है ।


विलायत पोर्टल : संयुक्त अरब अमीरात के युवराज मोहम्मद बिन ज़ाएद को लेकर जी ख़बरें आ रही हैं उन्हें सुनकर एक बार विश्वास करना मुश्किल होता है लेकिन सूत्रों के अनुसार लीबिया में संयुक्त अरब अमीरात के सहयोगी संगठनों से छन कर जो ख़बरें आ रही हैं वह बहुत चिन्ताजनक हैं । प्राप्त जानकारी के अनुसार लीबिया में संयुक्त अरब अमीरात के साथ सैन्य सहयोग करने वाले संगठनों के अनुसार इस देश का क्राउन प्रिन्स अफ्रीका से यूरोप जाने की इच्छा रखने वाले लोगों को मामूली दामों पर अपने देश की ओर से य़मन तथा मिडिल ईस्ट के अन्य देशों में हिंसक कार्रवाई करने के लिए जमा कर रहा हैं । ज्ञात रहे कि मिडिल ईस्ट में हालाँकि युद्ध और हिंसक घटनाएं ज़िंदगी का हिस्सा बन गई है लेकिन इस क्षेत्र में अभी तक मानव तस्करी या मानवीय अंगों की तस्करी जैसा काम सुनने को नही मिलता था इस क्रम में अभी तक अवैध राष्ट्र इस्राईल एक अपवाद था लेकिन अब ज़ायोनी राष्ट्र को इस मैदान में भी संयुक्त अरब अमीरात के रूप में एक अच्छा पार्टनर मिल गया है । अमीरात में नंबर एक समझे जाने वाले तथा मिडिल ईस्ट एक शैतान के रूप में कुख्यात मोहम्मद बिन ज़ाएद की गतिविधियों ने मानवाधिकार संगठनों को अत्यधिक चिंतित कर दिया है । संयुक्त राष्ट्र से जुड़े PAX जैसे संगठन का कहना है कि संयुक्त अरब अमीरात अफ्रीका में सोमालिया, इरिट्रिया, दक्षिण सूडान और लीबिया जैसे देशों में हथियार भेज कर इन अफ्रीकी देशों में भुला दिए गए विवादों को हवा देकर यहाँ जंग का माहौल उत्पन्न कर रहा है । वह अंतर्राष्ट्रीय क़ानूनों और संविधानों का उल्लंघन कर रहा है जिन पर अमीरात ने भी हस्ताक्षर किये हैं तथा यह अंतर्राष्ट्रीय शांति के लिए गंभीर खतरा है। अरब अमीरात इन देशों से मानव तस्करी कर दासता प्रथा को फिर से ज़िंदा करने की कोशिश कर रहा है वह यूरोप जाने की इच्छा रखने वाले लोगों को अन्य देशों की ओर भेज रहे हैं तथा उनकी क़ीमत वसूल कर उन्हें बेचा जा रहा है , उन्हें यमन युद्ध के अलावा भी अन्य युद्धों और हिंसक कार्रवाईयों में झोंका जा रहा है ।
 .......................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :