हिंदुस्तान
Friday - 2018 July 20
Languages

आले सऊद, तकफ़ीरियत और साम्राज्यवाद के गठजोड़ की कहानी (3)

आश्चर्य की बात है कि यह हक़ीक़त अब्दुल अज़ीज़ को नहीं पता और वह यह कहे जो लोगों (ब्रिटिश साम्राज्य) का शुक्रिया नहीं अदा करता वह ख़ुदा का शुक्रिया नहीं अदा कर सकता जबकि इन वहाबियों का अक़ीदा यह है कि पैग़म्बर स.अ. और दूसरे किसी भी अल्लाह के वली की क़ब्र के सामने नमाज़ पढ़ना हराम है और उनके अक़ीदे के हिसाब से अल्लाह की इबादत में अल्लाह का वली शामिल हो जाएगा और यह शिर्क है तो अब्दुल अज़ीज़ कैसे ब्रिटेन के शुक्रिये को अल्लाह का शुक्रिया बता रहा है... कि अगर इन साम्राज्यवादी ताक़तों का शुक्रिया अदा नहीं किया तो समझो अल्लाह का शुक्रिया अदा नहीं किया।

7/5/2018 4:05:02 PM

आले सऊद, तकफ़ीरियत और साम्राज्य के गठजोड़ की कहानी (2)

तारीख़े नज्द नामी किताब में अब्दुल्लाह फ़ील्बी लिखता है कि इब्ने अब्दुल वहाब ने अपने शागिर्दों के दिमाग़ में जेहाद के वाजिब फ़लसफ़े को पूरी तरह बिठा दिया था उनमें से अधिकतर जेहाद को अपने लिए मुक़द्दस फ़र्ज़ समझते थे, इब्ने अब्दुल वहाब ने लूटे हुए माल का पांचवां हिस्सा केंद्रीय ख़ज़ाने से विशेष कर रखा था जिसे इब्ने सऊद और इब्ने अब्दुल वहाब अपनी ज़रूरत और अपनी मर्ज़ी के हिसाब से ख़र्च करते थे, इन्हीं सब के चलते इब्ने अब्दुल वहाब को एक या दो साल में ही हुकूमती मामलात में काफ़ी पकड़ हासिल हो गई थी।

7/2/2018 5:16:13 PM

आले सऊद, तकफ़ीरियत और साम्राज्य के गठजोड़ की कहानी (1)

आले सऊद ने जहां तकफ़ीरियत और आतंकवाद का जन्म दे कर बढ़ावा दिया वहीं उस दौर के साम्राज्य की ग़ुलामी का हक़ अदा करते हुए मुक़द्दस दीन इस्लाम की पीठ में मुनाफ़ेक़त और फ़िर्क़ा परस्ती का वार भी किया है, और इन सबके पीछे आले सऊद के दो समझौते हैं जिसमें एक वहाबियत की बुनियाद रखने वाले मोहम्मद इब्ने अब्दुल वहाब के साथ और दूसरा ब्रिटेन के बूढ़े साम्राज्य के साथ जिसको विस्तार से इस लेख में बयान किया जाएगा।

6/30/2018 6:08:37 PM

test

ddfgngf

2/21/2018 10:26:00 AM

इस्राईल के मिटते ही वहाबियत भी ख़त्म

अगर आप दूसरे विश्व युध्द पर ध्यान दें तो यह बात और अच्छी तरह से साफ़ हो जाती है, क्योंकि यही वह समय था जब यहूदी संगठन इस्राईल नामी देश बनाने में जुटे थे और तभी बहाबी टोले ने अपनी कट्टरता और कुछ विचारों को पेश कर के सभी मुसलमानों का ध्यान अपनी ओर खींच लिया ताकि मुसलमान इन्हीं शिर्क कुफ़्र के फ़तवों में उलझ कर रह जाएं और यहूदियों का काम (इस्राईल नामी देश का गठन) आसान हो जाए।

1/29/2018 5:03:31 PM

आतंकी संगठन आईएसआईएस पैदाइश से विनाश तक (4)

गार्जियन, स्पाईजेल की रिपोर्ट और जार्डन, तुर्की और मिस्र के अधिकारियों के अनुसार दाइश जैसे आतंकी संगठन को अमेरिका, इंग्लैंड, फ़्रांस के माहिर ट्रेनरों द्वारा जार्डन, तुर्की और इस्राईल में ट्रेनिंग दी गई थी, इस रिपोर्ट से ज़ाहिर है कि अमेरिका जो केवल दिखावा करने के लिए दाइश का विरोध करता है लेकिन इस आतंकी संगठन द्वारा फैलाया गया आतंक उनकी निगाहों के सामने हुआ और उन्हें दाइश की हर छोटी बड़ी गतिविधियों की पूरी ख़बर थी।

1/25/2018 5:07:53 PM

आतंकी संगठन आईएसआईएस पैदाइश से विनाश तक (3)

इस पार्ट में दाइश के कमांडरों और उसके लीडरों के बारे में कुछ जानकारी आपके सामने पेश की जा रही है।

1/24/2018 7:32:50 PM

आतंकी संगठन आईएसआईएस, पैदाइश से विनाश तक (2)

2011 में अबू बकर बग़दादी का नाम भी अमेरिका की आतंकवादी सूची में शामिल हो गया और उसकी पक्की ख़बर देने वाले के लिए 10 मिलियन डॉलर का ईनाम भी रखा गया, जिस समय अबू बकर बग़दादी पर यह ईनाम रखा गया उस समय ऐमन ज़वाहिरी के पकड़े जाने पर 25 मिलियन का ईनाम रखा जा चुका था।

1/22/2018 6:59:26 PM

आतंकी संगठन आईएसआईएस, पैदाइश से विनाश तक (1)

इस आतंकी संगठन की बुनियाद रखने वाला अबू मुसअब ज़रक़ावी था, जो जॉर्डन का रहने वाला था, ज़रक़ावी द्वारा रखी गई यह बुनियाद 2003 में अमेरिका और इराक़ की जंग के दौरान पूरी इमारत बन चुकी थी, 2001 में इराक़ भाग कर आने से पहले ज़रक़ावी अफ़ग़ानिस्तान के हथियार बंद लड़ाकों का सरगना था, इसने इराक़ पहुंच कर अंसारुल इस्लाम के नाम से कुर्द अलगाव वादी संगठन बनाया और पूरे अरब में इस संगठन का सरगना बन बैठा।

1/21/2018 7:27:00 AM

दाइश को पश्चिमी देशों के समर्थन का कारण, सुन्नी आलिम ने खोली पोल ।

साम्राज्यवादी ताक़तों का दाइश जैसे संगठन को लेकर आने का मक़सद हमारे ध्यान को बैतुल मुक़द्दस से हटाना है, इंशा अल्लाह वह दिन आएगा जब मुसलमान पूरी तरह से एकता और इत्तेहाद की मिसाल पेश करते हुए इन सारी कठिनाइयों को दूर करेंगे, मेरा यह मानना है कि इस्लाम विरोधी ताक़तों की बहुत छोटी सोंच होती है यही कारण है कि मुसलमानों द्वारा दाइश के इतने लंबे समय से मुक़ाबला करने के बाद पूरा साम्राज्यवाद बौखलाया हुआ है।

1/17/2018 6:00:00 AM

  • रिकार्ड संख्या : 50